Hindi - Orchids
Job Alert : To view our Careers Page Click Here X
info@orchids.edu.in (+91) 8-888-888-999


CBSE Class 3 Hindi Syllabus

The first language of most of the people in this country and the language that is spoken the most nationwide, Hindi is essential in children’s lives. Hindi communication skills, comprehension, and the ability to use the language with absolute accuracy is what the curriculum by CBSE is aimed at.

SYLLABUS

The syllabus for Class III Hindi for 2022-2023 involves comprehensive vocabulary and grammar for students of Class III and stories and poems to describe various concepts related to morality and understanding of the world.

NCERT book ( as per CBSE ) - रिमझिम - 3

  • पाठ 1: कक्कू
  • पाठ 2: शेखीबाज़ मक्खी
  • पाठ 3: चाँद वाली अम्मा
  • पाठ 4: मन करता है
  • पाठ 5: बहादुर बित्तो
  • पाठ 6: हमसे सब कहते
  • पाठ 7: टिपतिपवा
  • पाठ 8: बंदर बाँट
  • पाठ 9: कब आऊ
  • पाठ 10: क्योंजीमल और कैसे कैसलिया
  • पाठ 11: मीरा बहन और बाघ
  • पाठ 12: जब मुझे साँप ने काटा
  • पाठ 13: मिर्च का मजा
  • पाठ 14:> सबसे अच्छा पेड़ Objectives / उद्देश्य

1. बच्चों में पुस्तकों के प्रति रुचि जागृत करना -

  • पाठ्यपुस्तक की विधाओं से परिचित होना और उससे प्रेरित हो कर उन विधाओं की अन्य पुस्तकें पढ़ना।
  • मुख्य बिंदु/विचार को ढूँढ़ने के लिए विषय-सामग्री की बारीकी से जाँच करना।
  • विषय सामग्री के माध्यम से नए शब्दों का अर्थ जानने की कोशिश करना।

2. पूर्व अर्जित भाषायी कौशलों का उत्तरोत्तर विकास करना।

  • दूसरे के विचारों को सुनकर समझना और अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर सकना।
  • दूसरों के विचारों को पढ़कर समझने की योग्यता का विकास करना।
  • पठन के द्वारा ज्ञानार्जन एवं आनंद प्राप्ति में समर्थ बनाना।

प्रारंभिक कक्षाओं के लिए पाठ्यक्रम

  • अध्ययन की कुशलता का विकास करना।
  • स्वतंत्रता और आत्मविश्वास के साथ लिख पाना।
  • मनपसंद विषय का चुनाव कर लिख सकना।
  • विषयवस्तु और विचारों के प्रस्तुतीकरण में लेखन की तकनीक का विकास करना।
  • दूसरों की अभिव्यक्ति को सुनकर उचित गति से शब्दों एवं वाक्यों को लिख सकना।

3. भाषा को अपने परिवेश और अपने अनुभवों को समझने का माध्यम मानना और उसका सार्थक उपयोग कर सकना।

  • कक्षा में बच्चों को बहुभाषिक और बहुसांस्कृतिक संदर्भों से जोड़ना।
  • बच्चों की कल्पनाशीलता और सृजनात्मकता को विकसित करना।
  • भाषा के सौंदर्य की सराहना करने की योग्यता का विकास करना।

पाठ्यसामग्री

  • प्रत्येक कक्षा (3ए 4ए 5) के लिए एक-एक पाठ्यपुस्तक निर्धारित की जाएगी। इन पाठ्यपुस्तकों में ही पर्याप्त अभ्यास कार्य शामिल होगा। पुस्तकों की विषय-सामग्री उद्देश्यों और शैक्षिक क्रियाकलापों पर आधारित होगी। सामग्री का चयन कक्षा 1 और 2 में विकसित हुए भाषायी कौशल और विषयों को ध्यान में रखकर किया जाएगा।
  • कक्षा 3ए 4 और 5 के बच्चों को अतिरिक्त पठन के लिए भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

शिक्षण युक्तियाँ

  • कक्षा एक और दो के लिए सुझाई गई युक्तियों के साथ ही निम्नलिखित क्रियाकलापों का आयोजन भाषा शिक्षण के लिए किया जा सकता है।
  • बच्चों की रुचि के अनुसार परिचित विषय या प्रसंग पर चर्चा।
  • कहानी, वर्णन,विवरण आदि पर प्रश्न पूछने और उत्तर देने को प्रोत्साहित करें।
  • भाषण, वाद-विवाद,कविता पाठ, अभिनय आदि का आयोजन कराया जाए।
  • कहानी, नाटक के पात्रों का अभिनय कराया जाए।
  • अनौपचारिक एवं औपचारिक परिस्थितियों में परिचित एवं पाठ्यपुस्तक के अतिरिक्त पुस्तकों से कहानी, कविता ढूँढ़ने तथा सुनाकर पढ़ने के लिए कहना।
  • उचित गति एवं प्रवाह के साथ पढ़ने पर बल दें।
  • दूसरों की हस्तलिखित सामग्री, पत्र आदि पढ़वाए जा सकते हैं।
  • सरल एवं परिचित विषयों पर वाक्य, अनुच्छेद लेखन।
  • अनुभव पर आधारित घटना का विवरण लेखन।
  • अनौपचारिक एवं औपचारिक पत्र लेखन।
  • वर्ग-पहेली भरवाना।
  • चित्र दिखाकर उस पर आधारित कविता, कहानी लेखन।
  • संदर्भ पुस्तकों को पढ़ने तथा कठिन शब्दों को शब्दकोश में से देखकर उनके अर्थ समझने का अवसर दिया जाए।
  • अधूरी कहानी को पूरी कर सुनाने तथा लिखने को कहा जा सकता है।
  • पुस्तकालय समृद्ध करने हेतु प्रयास।

As you can tell, the Class III Hindi syllabus is much more complex than the previous two years. This year’s curriculum makes the kids use and understand the language more in-depth, to encourage and engage them actively.